Tuesday, March 19, 2019

परमेश्वर के साथ चलना डर का अंत है


परमेश्वर के साथ चलना डर का अंत है

...यदि परमेश्वर हमारी ओर है, तो हमारा विरोधी कौन हो सकता है ? (रोमियों 8:31)

मित्रों, प्रभु यीशु में प्यार भरा नमस्कार...

कल्पना करें एक स्कूल के छोटे बच्चे को गली के दो शरारती लड़के मिलकर परेशान कर रहे हैं । यह छोटा बच्चा बहुत ही डरा हुआ है...और तभी वह बच्चा मुड़कर देखता है, कि उसका पिता जो लंबा चौड़ा है और पूरे शहर का सबसे बड़ा पहलवान है, उसी मार्ग में आ रहा है...सोचिये इन शरारती लड़कों का क्या हाल होगा?? और उसके पुत्र के चहेरे में कैसी ख़ुशी होगी...जो अभी तक डरा सहमा था अब यह जानके के बाद की उसका पिता उसकी ओर से खड़ा है उस बच्चे की चाल कैसी होगी...शायद वह बच्चा ऐसा ही कहेगा...मेरा पिता मेरे साथ है तो मेरा विरोधी कौन हो सकता है??

    परमेश्वर के साथ साथ चलने वाले भाइयों और बहनों हमारे लिए बड़े ही सौभाग्य की बात है कि, “ सारे संसार का सृष्टिकर्ता परमेश्वर हमारे साथ है, फिर हमें किस बात का डर...डर मनुष्य को अपाहिज बना देता है। डर और विश्वास एक साथ नहीं रह सकते। बाइबल डर शब्द के विलोम शब्द के रूप में विश्वास शब्द का प्रयोग करती है । प्रभु यीशु ने अनेकों बार कहा, डरो मत परन्तु विश्वास रखो । हमारे जीवन में या तो डर हावी होगा या विश्वास...दोनों एक साथ नहीं रहते जैसे अंधकार और उजियाला ।

      यदि हम परमेश्वर के साथ-साथ चल रहे हैं तो, हमें पूर्ण विश्वास होगा कि हमारी हर परिस्थिति में सर्वशक्तिमान परमेश्वर का पूर्ण नियन्त्रण है । और वो हमारे लिए सब कुछ पूरा करेगा । फिर वो बातें चाहे आत्मिक हों या भौतिक, चाहे दृश्य हो या अदृश्य, वो हरेक आंधी और तूफान को आदेश देकर शांत कर सकता है । उसके लिए सब कुछ संभव है 

यशायाह 43:1-2,5 में पमरेश्वर का वचन हमें आदेश देता है । हे इस्राएल, तेरा रचने वाला और हे याकूब तेरा सृजनहार यहोवा अब यों कहता है, “मत डर क्योंकि मैंने तुझे छुड़ा लिया है, मैंने तुझे नाम लेकर बुलाया है, तू मेरा ही है ।  जब तू जल में से होकर जाए, मैं तेरे संग संग रहूँगा और जब तू नदियों में होकर चले, तब वे तुझे डुबा न सकेगी । क्योंकि यहोवा तेरा परमेश्वर हूँ ...मत डर क्योंकि मैं तेरे साथ हूँ ।"

   हमें डरना नहीं है क्योंकि हम परमेश्वर के हैं । उसने हमें छुड़ाया है और हमें भली भांति जानता है वो हमें हमारा नाम लेकर बुलाता है...हमें डरना नहीं है क्योंकि स्वयं परमेश्वर हमारे साथ है । हमें डरना नहीं है क्योंकि स्वयं परमेश्वर ने हमसे वायदा किया है, कि वो हमारी कुछ भी हानि होने नहीं देंगे । हमें नहीं डरना है क्योंकि यह संसार अंत नहीं है और हम इस संसार में तो एक मुसाफिर है और उस दुनिया (स्वर्ग) के हैं जहाँ हम अनंतकाल उसके साथ बिताएंगे 

No comments:

Post a Comment

Thanks for Reading... यदि आपको ये कहानी अच्छी लगी है तो कृपया इसे अपने मित्रो को शेयर करें..धन्यवाद

Hindi Bible Study By Sister Anu John / बहन अनु जॉन के द्वारा हिंदी बाइबिल स्टडी (Audio)

बहन अनु जॉन के द्वारा हिंदी बाइबिल स्टडी (ऑडियो) सिस्टर अनु जॉन परमेश्वर की सेविका हैं, जो अपने पति पास्टर जॉन वर्गिस के साथ परमे...

Followers