समस्या का समाधान पास में ही है



  • एक व्यक्ति अपने कम्पनी की स्पेशल मीटिंग के लिए लेट हो गया था...इसलिए वह अपनी कार से मीटिंग के लिए तेजी से जा रहा था....उसके मन में मीटिंग को लेकर तरह तरह के ख्याल मन में आ रहे थे...

  • पूरी तरह से वह अपना ध्यान मीटिंग की ओर ही लगाए हुए था...और कार भी तेजी से चला रहा था। 

  • इस समय वह नदी के ऊपर के एक लंबे पुल के ऊपर से होकर निकल रहा था, अचानक उसे ज्ञात हुआ की उसकी कार का पिछला पहिया लहरा रहा है...

  • उसने कार को पुल के बीच में ही रोका और पीछे आकर अपनी कार को देखा तो उसके होश उड़ गए। 

  • पिछले पहियों में से दाहिने और के एक पहिये के चारों नट निकल कर पानी में गिर चुके हैं...और पहिया भी बस निकलने ही वाला है...

  • अब यह व्यक्ति बड़ा ही परेशान हो गया...एक तो मीटिंग के लिए पहले से ही लेट हो चूका है और अब यह समस्या....दूर दूर तक कोई भी नजर नहीं आ रहा था...वह कभी अपनी फाइल को देखता कभी कार के अन्दर कुछ खोजने की कोशिश करता....

  • तभी पास के गाँव का एक देहाती व्यक्ति उसके पास से होकर गुजरा.. गाँव के व्यक्ति ने इस कार वाले को देखा कि बड़ा परेशान है...तो पूछ बैठा, "भैया हम तुम्हार कछु मदद कर सकत हैं का????" काहे परेशान हो???

  • कार वाले व्यक्ति ने उसे गाँव का साधारण और अनपढ़ व्यक्ति समझ कर, गुस्से में कहा तुम खुद पैदल हो मेरी क्या मदद कर सकते हो...

  • तब गाँव के व्यक्ति ने बताया इस पुल के पार गाँव में ही एक कार मिस्त्री है....वहां तक पहुँच कर आप कार ठीक करवा सकते हो...

  • कार वाले व्यक्ति ने कहा समस्या तो यही है....वहां तक कार ले कैसे जाऊं?? मेरे कार के पहिये के चारों नट पानी में गिर चुके हैं और मेरे पास एक भी अतिरिक्त नट नहीं हैं...

  • उस गाँव वाले ने बोला तो आप तब तक बाकी तीनों पहिये के एक एक नट निकाल कर इसमें लगा लो...कम से कम अभी तो इस समस्या से निकल सकते हो....

  • व्यक्ति को अब समझ में आया समस्या का समाधान तो मेरे पास ही था लेकिन मेरा ध्यान कहीं और लगा हुआ था...

  • हाँ मित्रों अधिकांशत: हमारे बड़ी बड़ी समस्याओं का समाधान हमारे इर्द गिर्द ही होता है लेकिन हमारा ध्यान ही नहीं जाता...अब्राहम की का मेमना मोरियाह पर्वत पर उसके पास में ही था...मारा के पानी के पास कड़वे पानी को मीठा करने का पौधा उसने पास ही...था हमें बस परमेश्वर की अगुवाई परमेश्वर के द्वारा नवीन दृष्टि चाहिये...हमारे हर समस्या का समाधान परमेश्वर कर सकते हैं...हर समस्या का समाधान  हमारे इर्द गिर्द ही है बस परमेश्वर की ओर हमारी दृष्टि हो...










No comments:

Post a Comment

Thanks for Reading... यदि आपको ये कहानी अच्छी लगी है तो कृपया इसे अपने मित्रो को शेयर करें..धन्यवाद

घमंड. परमेश्वर के साथ चलने की सबसे बड़ी बाधा

मित्रों प्रभु यीशु में आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार, हम कुछ सप्ताह से सीख रहे हैं कि कैसे हम परमेश्वर के साथ-साथ चल सकते हैं...पवित्रश...

Followers