क्या आप परमेश्वर पर विश्वास करते हैं ?? Short Story



"परमेश्वर ने स्वर्ग में से मनुष्यों पर दृष्टि की है, कि देखे कि कोई बुद्धिमान, कोई परमेश्वर का खोजी है की नहीं? " (भजनसंहिता 14:2)

एक व्यक्ति जो कलीसिया का पासवान भी था वह नाई की दुकान में बाल कटाने आया

 नाई नास्तिक था। उसने पासवान से बातों ही बातों में कहने लगा, पासवान जी मैं परमेश्वर पर विशवास नहीं करता यदि परमेश्वर होता तो क्या इतनी बीमारियाँ, भूकम्प, लड़ाईयाँ और प्राकृतिक आपदाएं होतीं??

 क्या इतना दुःख-दर्द होता?? लोग इस तरह से बिना मौत मरते? 

इसलिए परमेश्वर पर विश्वास करना और उसकी आराधना प्रार्थना करना समय की बर्बादी के सिवाय और कुछ नहीं है। 

पासवान किसी भी प्रकार का विवाद या बहस नहीं करना चाहता था..वह मुस्कुराता रहा...

पासवान जब बाल कटवा चुके तब उन्होंने मुड़कर देखा की मार्ग में एक ऐसा आदमी जा रहा है जिसके लंबे लंबे बाल हैं, और उसने लंबी सी दाढ़ी भी रख रखी है... उसे देखकर पासवान के मन में एक सवाल आया और 

उन्होंने तुरंत उस नाई से कहा...

मैं भी नाई पर विश्वास नहीं करता...

दुनिया में नाई नहीं होते हैं....

नाई यह सुनकर आश्चर्य में पड़ गया और एक पल के लिए रुककर कहने लगा...'आप क्या कह रहे हैं मैंने अभी अभी आपके बाल काटे हैं...

मैं नाई आपके सामने खड़ा हूँ...और आप कैसे कह सकते हैं की नाई नहीं होते...

पासवान जी ने कहा यदि नाई होते तो देखो वो व्यक्ति को...उसके कितने बड़े बाल हैं उसकी दाढ़ी भी कितनी बढ़ी हुई है...क्या नाई के होते इतनी बड़ी दाढ़ी और बाल हो सकते हैं??

नाई हंसते हुए कहने लगा...पासवान जी इसमें नाई का क्या दोष? नाई तो हैं और बाल काटने के लिए तैयार भी हैं....लेकिन यदि कोई उनके पास बाल कटवाने न आये तो नाई क्या कर सकता है। उसमे नाई की क्या गलती? 

पासवान ने तपाक से कहा यही तो मैं भी कहना चाहता हूँ। परमेश्वर तो हैं लेकिन लोग परमेश्वर के पास जाते ही नहीं उसकी खोज नहीं करते उससे प्रार्थना नहीं करते। इसी कारण दुनिया में इतना दुःख है तकलीफ है....

लोगों को आशीष देने के लिए परमेश्वर तो तैयार हैं...लेकिन लोग ही उनके पास नहीं आते तो परमेश्वर का इसमें क्या दोष???






इन कहानियों को भी अवश्य पढ़ें 








No comments:

Post a Comment

Thanks for Reading... यदि आपको ये कहानी अच्छी लगी है तो कृपया इसे अपने मित्रो को शेयर करें..धन्यवाद

मित्रों कई बार हमारे मनो में ख्याल आता है, कि हमें बाइबल क्यों पढना चाहिए?  इसके लिए बाइबल से ही मैं आपको जवाब देना चाहती हूँ मैं ...

Followers