प्रभु यीशु मसीह का इस संसार में आने का कारण

प्रभु यीशु मसीह का इस संसार में आने का कारण 



“यह बात सच है और हर प्रकार से मानने के योग्य है, कि मसीह यीशु पापियों का उद्धार करने के लिए जगत में आया” 
(1तीमुथियुस 1:15)

        एक किसान था जो सारे जीव जन्तुओं से बहुत प्यार करता था । खेत में बीज बोने के लिए खेत में हल जोतने से पहले वह खेत में पैदल भ्रमण कर रहा था, तभी उसने देखा खेत में छूटे हुए अनाज के दानों और बहुत सा कचरा एकत्र होने के कारण बहुत सी चींटियाँ उसके खेत में आ गईं हैं । खेत के छोटे से भाग में लाखों की संख्या में चीटिंयों के झुण्ड को देख कर वह किसान सोचने लगा यदि मैंने हल चलवाया और कचरा जलवाया तो ये सारी की सारी चीटिंयां मारी जाएंगी । लेकिन खेती करने के लिए कचरा जलाना और हल चलाना भी बहुत जरूरी था । इसलिए उसने सोचा क्यों न इन चींटियों को बताया जाए कि उनका और ज्यादा यहाँ रहना खतरे से खाली नहीं हैं, वह किसान उन चींटियों के झुण्ड के पास आकर जोर जोर से बोलने लगा हे चींटियों भाग जाओ, अपनी जान बचाओ वरना मारी जाओगी । परन्तु किसी भी चींटी को इस किसान की आवाज से कोई फर्क नहीं पड़ रहा था... किसान के मित्र भी हँस रहे थे...
          यह सब किसान की बुद्धिमान पत्नी दूर से देख रही थी । उसने अपने पति को पास बुलाकर धीमी आवाज में बड़ी नम्रता से कहा, “चींटियाँ हमारी भाषा नहीं समझ सकती यदि उनसे बातें करना है या उन्हें कुछ समझाना सिखाना है तो हमें भी चींटियाँ बनना पड़ेगा और उनकी भाषा में उन्हें सिखाना होगा तो उनके प्राण बच सकते हैं ।” यह सुनकर किसान मुस्कुराया और अपनी पत्नी का धन्यवाद दिया क्योंकि अब किसान सब कुछ समझ चूका था और उसने कहा हाँ बिलकुल इसी कारण स्वर्ग का परमेश्वर हम मानव लोगों को नरक की आग से बचाने के लिए मानव रूप लेकर इस जगत में आया और हमारी भाषा में सुसमाचार सुनाया ताकि हम मानव जाति भी बच जाएं और स्वर्ग जीवन के वारिस बन जाएं ।




यदि आपके पास हिंदी में कोई सरमन, प्रेरणादायक कहानी, आपकी लिखी कविता या रोचक जानकारी है, जो आप सभी के लिए आशीष के लिए हमारे साथ सेयर करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ ईमेल करें। हमारी id है: rajeshkumarbavaria@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे धन्यवाद!!

2 comments:

  1. We r so grateful that we r serving such a Great God ..
    So loves us unconditionally Everyday...

    ReplyDelete

Thanks for Reading... यदि आपको ये कहानी अच्छी लगी है तो कृपया इसे अपने मित्रो को शेयर करें..धन्यवाद

घमंड. परमेश्वर के साथ चलने की सबसे बड़ी बाधा

मित्रों प्रभु यीशु में आप सभी को मेरा प्यार भरा नमस्कार, हम कुछ सप्ताह से सीख रहे हैं कि कैसे हम परमेश्वर के साथ-साथ चल सकते हैं...पवित्रश...

Followers