शांत मन की ताकत


शांत मन की ताकत

चुप हो जाओ, और जान लो, कि में ही परमेश्वर हूँ मैं जातियों में महान हूँ, 

परमेश्वर तेरा परमेश्वर मैं ही हूँ । 

(भजनसंहिता 46:10)

     बरेला नामक गाँव के एक जवान की एक माह बाद शादी होने वाली थी जिसके कारण वो बहुत ही खुश था। अभी अभी मंगनी हुई थी जिसमें उपहार के रूप में उसकी होने वाली पत्नी ने उसे एक सुंदर घड़ी दी थी।
जवान लड़का एक बढ़ई का काम करता था। बड़ी खुशी से वो बार बार लोगों को बताता देखो कितनी सुंदर घड़ी है। कभी पहनता कभी उतार कर अपने पास ही रख लेता और मन ही मन सोच सोचकर बहुत प्रसन्न होता। कारखाने में बहुत से लोग काम कर रहे थे। लंच समय में सबने उसे बधाई दी और घड़ी देखी और तारीफ की। लेकिन यह क्या काम समाप्त होने से पहले ही उसने पाया कि उसके पास वो सुंदर घड़ी नहीं है कहीं खो चुकी है उसने सबसे पूछा लेकिन सबने मना कर दिया। चारों ओर लकड़ी का बरूदा और लकड़ी का कचरा था, दोस्तों ने भी उसके साथ मिलकर खूब ढूँढा परन्तु वो घड़ी कहीं नहीं मिली। लड़का बड़ा ही उदास हो गया, बुरे बुरे ख्याल उसके मन में आने लगे...सोचने लगा उसकी होने वाली पत्नी क्या सोचेगी कैसा लापरवाह लड़का है। जो मेरी दी हुई एक घड़ी को न सम्हाल पाया वो मुझे क्या सम्हालेगा। कहीं वो रिश्ता न तोड़ दे क्या वो मुझसे विवाह करेगी...सोच सोच कर उसकी आँखों से आंसू टपकने लगे। तब तक सभी जा चुके थे,,,उसका मन उस स्थान को छोड़ने का नहीं कर रहा था। अब कारखाना बंद होने वाला था, सभी मशीने बंद थी, सभी लोग अपने घर जा चुके थे कारखाने में सन्नाटा था। जवान लड़का मुंह लटकाए शांत बैठा था तभी उसने बहुत धीमी आवाज सुनी, ‘टिक...टिक...टिक...टिक आवाज सुनते ही जैसे इस लडके में जान सी आ गयी और वह जल्दी ही उस स्थान से बरूदा हटाकर देखने लगा जहाँ से घड़ी की आवाज आ रही थी और उसे उसकी घड़ी मिल गयी जिसे उसने खो दिया था। 

कई बार हमारे बहुत से सवाल हम परमेश्वर से पूछते हैं। सवालों का जवाब हमारे आस पास ही होता है जिसे परमेश्वर हमसे कहता है परन्तु दुनिया भर के शोरगुल के कारण हम परमेश्वर की आवाज या आत्मा की आवाज नहीं सुन पाते...शांत हो जाएं...वो धीमी आवाज सुनने की कोशिश करें।



इन कहनियों को भी अवश्य पढ़े 




यदि आपके पास हिंदी में कोई सरमन, प्रेरणादायक कहानी, आपकी लिखी कविता या रोचक जानकारी है, जो आप सभी के लिए आशीष के लिए हमारे साथ सेयर करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ ईमेल करें। हमारी id है: rajeshkumarbavaria@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे धन्यवाद!!

No comments:

Post a Comment

Thanks for Reading... यदि आपको ये कहानी अच्छी लगी है तो कृपया इसे अपने मित्रो को शेयर करें..धन्यवाद

मित्रों कई बार हमारे मनो में ख्याल आता है, कि हमें बाइबल क्यों पढना चाहिए?  इसके लिए बाइबल से ही मैं आपको जवाब देना चाहती हूँ मैं ...

Followers