Wednesday, November 14, 2018

राजकुमारी की प्रतिमा


राजकुमारी की प्रतिमा
     
"क्योंकि परमेश्वर ने जगत से ऐसा प्रेम रखा कि उसने अपना एकलौता पुत्र डे दिया, ताकि जो कोई उस पर विश्वास करे वह नष्ट न हो, परन्तु अनंतजीवन पाए" 
(यूहन्ना 3:16)

        एक राजा था जो अपनी एकलौती बेटी से बहुत प्यार करता था। राजकुमारी बहुत सी सांवले रंग की थी। उसने पूरे देश में कहला भेजा कि मेरी बेटी की मूर्ति बनाने के लिए एक उत्तम मूर्तिकार चाहिए राजा उसे अच्छा इनाम देगा।
       एक मूर्तिकार ने यह प्रस्ताव स्वीकार किया और कई दिनों की लगातार मेहनत से उसने एक मूर्ति बनाई। जब उस मूर्ति को राजमहल में प्रस्तुत करने का दिन आया तो सारा राजमहल लोगों से और राजमहल के कर्मचारियों से भरा हुआ था। राजा ने मूर्ति से पर्दा हटाया...सभी लोग उस अतिसुन्दर मूर्ति को देखकर चकित थे...और सभी अपने स्थान में खड़े होकर तालियां बजा रहे थे। और मूर्तिकार की प्रशंसा कर रहे थे। 

        मूर्ति सचमच बहुत सुंदर थी जिसमें राजकुमारी को बहुत ही सुंदर दिखाया गया था। उसका रंग भी जो सावला था परन्तु मूर्ति भी बड़ी खूबी से गोरा दिखाया गया था। राजकुमारी का डीलडौल जो वास्तव में उतना सुन्दर नहीं था परन्तु मूर्ति में बहुत ही सुन्दर दिखाया गया था।

         मूर्तिकार खुश था और राजा की प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहा था। राजा बहुत देर शांत था तब मूर्तिकार ने राजा से पूछ ही बैठा राजन आप क्या कहते हैं मेरे इस कला के विषय में। राजा ने एक हथोड़ा मंगवाकर अपने हाथ से उस मूर्ति के टुकडे टुकडे कर दिया। सभी राजा के इस काम से आश्चर्य में थे कि राजा ने ऐसा क्यों किया। मूर्तिकार बहुत ही भयभीत होकर अपना सिर झुकाए पूरी सभा के सामने चुपचाप खड़ा था। तब राजा ने पूरी सभा के सामने ऊची आवाज में कहा, ‘पूरी दुनिया में हो सकता है बहुत ही रूपवान और प्रतिभावान लोग होंगे। परन्तु मेरी बेटी जैसी भी है जिस रंग की भी है मैं उसे वैसे ही बहुत प्यार करता हूँ। मैंने तुमसे अपनी बेटी की मूर्ति बनाने को कहा था वैसी ही जैसी वो है। मूर्तिकार को अपनी गलती का एहसास हो चूका था...

     सच है परमेश्वर भी हम से वैसे ही प्यार करता है जैसे हम हैं बिना किसी रंग या जाति भेदभाव के...






यदि आपके पास हिंदी में कोई सरमन, प्रेरणादायक कहानी, आपकी लिखी कविता या रोचक जानकारी है, जो आप सभी के लिए आशीष के लिए हमारे साथ सेयर करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ ईमेल करें। हमारी id है: rajeshkumarbavaria@gmail.com पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ पब्लिश करेंगे धन्यवाद!!

No comments:

Post a Comment

Thanks for Reading... यदि आपको ये कहानी अच्छी लगी है तो कृपया इसे अपने मित्रो को शेयर करें..धन्यवाद

Hindi Bible Study By Sister Anu John / बहन अनु जॉन के द्वारा हिंदी बाइबिल स्टडी (Audio)

बहन अनु जॉन के द्वारा हिंदी बाइबिल स्टडी (ऑडियो) सिस्टर अनु जॉन परमेश्वर की सेविका हैं, जो अपने पति पास्टर जॉन वर्गिस के साथ परमे...

Followers